रविवार, 15 जून 2008

आरुषि हत्‍याकाण्‍ड

कौन जाने क्‍या हुआ कैसे हुआ
आरुषि की मौत ने दिल को छुआ
प्रश्‍न जो उत्‍तर बिना हैं आज तक
क्‍यों मसल डाली कली कचनार की

कौन कहता आरुषि तू मर गयी
खूबसूरत जिंदगी से डर गयी
हर वक्‍़त रहती है नज़र के सामने
रोज बनती है खबर अखबार की

3 टिप्‍पणियां:

  1. टिप्‍पणी देना खतरनाक हो सकता है
    पर हम यह खतरा भी उठा रहे हैं.

    उत्तर देंहटाएं
  2. सामयिक विष्य...सधे संतुलित शब्द...

    और क्या कहें?

    उत्तर देंहटाएं

टिप्‍पणी की खट खट
सच्‍चाई की है आहट
डर कर मत दूर हट