शनिवार, 25 अक्तूबर 2008

चोंचले बनाम ख्‍वाब

सदा अधूरे ही रहे सच सच कहूं जनाब
धनवानों के चोंचले धनहीनों के ख्‍वाब

6 टिप्‍पणियां:

  1. सच्ची बात कह डाली... २ लाईन मे पुरी जिन्दगी बयान हो गई... बहुत सुन्दर

    उत्तर देंहटाएं
  2. अति सुंदर |
    दीपावली की हार्दिक बधाईयाँ और शुभकामनाये | आप अपने ब्लाग पर हिन्दी राईटर को भी ज़गह दे आपके पाठकों को आसानी रहेगी |

    उत्तर देंहटाएं
  3. बहुत सही!!


    आपको एवं आपके परिवार को दीपावली की हार्दिक बधाई एवं शुभकामनाऐं.

    उत्तर देंहटाएं
  4. किया केने हें,भई जबाब नई इस जबाब दा।जब भी लिखणा मुझे जुरुर बताणा भई।

    उत्तर देंहटाएं
  5. किया केने हें,भई जबाब नई इस जबाब दा।जब भी लिखणा मुझे जुरुर बताणा भई।

    उत्तर देंहटाएं

टिप्‍पणी की खट खट
सच्‍चाई की है आहट
डर कर मत दूर हट