शुक्रवार, 18 जनवरी 2008

बर्ड फ्लू

बर्ड फ्लू के कारण आदमी हमें नहीं खायेगा, सोच सोच कर मुर्गियाँ खुश थीं, इनकी खुशी देख कर मुर्गा सोच रहा था और कह रहा था-

मुर्गा बोला मुर्गियो कौन खुशी की बात
जिंदा तो छोड़े नहीं ये आदम की जात

5 टिप्‍पणियां:

  1. dekhan me chotan lage ghav kare gambhir type likha hai aapne

    उत्तर देंहटाएं
  2. बहुत गहरा अर्थ छिपा है इन मुर्ग की बात
    बीमारी हो तो मारेंगे, न हो तो चिकन बने

    उत्तर देंहटाएं
  3. सही कहा आपने....कटना तो खरबूजे को ही पडता है चाहे छुरी उस पर गिरे या फिर वो छुरी पर...यहाँ मुर्गे के लिए भी यही कहावत सटीक प्रतीत होती है

    उत्तर देंहटाएं

टिप्‍पणी की खट खट
सच्‍चाई की है आहट
डर कर मत दूर हट