गुरुवार, 30 सितंबर 2010

तीसरे हरियाणा अंतर्राष्‍ट्रीय फिल्‍म समारोह में राज्‍य के मुख्‍यमंत्री और गवर्नर शामिल हो रहे हैं

डीएवी गर्ल् कॉलेज, यमुनानगर में 1 अक्टूबर से आयोजित तीसरे हरियाणा अंतर्राष्ट्रीय फिल् समारोह में भारतीय फिल् जगत की कई बड़ी हस्तियां शिरकत करेंगी। समारोह के निदेशक अजित राय ने आज यहां एक प्रेस कांफ्रेंस में बताया कि इसमें भारत और विदेशों की लगभग 50 फिल्में दिखाई जायेंगी। उन्होंने कहा कि इस फेस्टिवल का उद्घाटन दादा साहेब फाल्के अवार्ड से सम्मानित सुप्रसिद्ध फिल्मकार अडूर गोपालकृष्णन करेंगे। अडूर की मलयालम फिल् शेडो किल के प्रदर्शन से फेस्टिवल की शुरूआत होगी।

यह समारोह 7 अक्टूबर तक चलेगा जिसमें फ्रांस, जर्मनी, इटली, ब्रिटेन, अमरीका, पोलैंड, रूस, जापान, चीन, ईरान, स्वीडन, फिलीपिन्, हांगकांग, डेनमार्क, हंगरी, नार्वे, अर्जेंटीना, ब्राजील आदि देशों की फिल्मों का प्रदर्शन होगा। उन्होंने बताया कि इस समारोह में ईरानी सिनेमा का विशेष खंड प्रदर्शित किया जाएगा। इस खंड का शुभारंभ भारत के ईरानी दूतावास में ईरान कल्चरल हाऊस के निदेशक अली देहघई करेंगे। 3 अक्टूबर को साहित् और सिनेमा खंड का शुभारंभ हंस के संपादक राजेन्द्र यादव करेंगे। इस अवसर पर उनके उपन्यास सारा आकाश पर इसी नाम से बासु चटर्जी की बनाई फिल् का विशेष प्रदर्शन होगा।

फेस्टिवल की आयोजक डीएवी गर्ल् कॉलेज की प्रिंसीपल सुषमा आर्य ने बताया कि यह खुशी की बात है कि हरियाणा के मुख्यमंत्री भूपिन्दर सिंह हुड्डा और गवर्नर जगन्नाथ पहाडि़या ने समारोह में आने की स्वीकृति दी है। इस फेस्टिवल में हरियाणा में सिनेमा के विकास पर एक राष्ट्रीय सेमिनार का आयोजन भी किया जा रहा है जिसकी अध्यक्षता हरियाणा स्टेट चाइल् वेल्फेयर सोसायटी की उपाध्यक्ष आशा हुड्डा करेंगी। उन्होंने बताया कि हरियाणा के गवर्नर जगन्नाथ पहाडिया 6 अक्टूबर की शाम 4 बजे सीमा कपूर की राजस्थानी फिल् हाट वीकली बाजार के हरियाणा प्रीमियर पर मुख् अतिथि होंगे।

अजित राय ने बताया कि दादा साहेब फाल्के अवार्ड से सम्मानित भारत के विश् प्रसिद्ध फिल्मकार श्याम बेनेगल से दर्शकों की बातचीत का विशेष आयोजन 5 अक्टूबर को 2.30 बजे से 5 बजे तक किया जा रहा है। फेस्टिवल में श्याम बेनेगल की 2 फिल्में समर और सूरज का सातवां घोड़ा दिखाई जा रही हैं। चर्चित युवा फिल्मकार अनवर जमाल दर्शकों के सामने श्याम बेनेगल से विशेष बातचीत करेंगे। इसी दिन पंजाब में किसानों की आत्महत्याओं पर अनवर जमाल की फिल् हार्वेस् ऑफ ग्रीफ का प्रीमियर होगा। उन्होंने बताया कि 6 और 7 अक्टूबर को भारत के अंतर्राष्ट्रीय अभिनेता ओमपुरी फेस्टिवल में मौजूद रहेंगे। फेस्टिवल का अंतिम दिन 7 अक्टूबर ओमपुरी की फिल्मों को समर्पित किया गया है। ओमपुरी समापन समारोह के मुख् अतिथि भी होंगे। उस दिन उनकी 3 अंतर्राष्ट्रीय फिल्मेंईस् इज ईस्, सिटी ऑफ जॉय और माइ सन इज फाइनेटिक दिखाई जायेंगी।

हरियाणा के मुख्यमंत्री भूपिन्दर सिंह हुड्डा 4 अक्टूबर को दिन में 3 बजे ओमपुरी और यशपाल शर्मा की मुख् भूमिकाओं वाली अश्विनी चौधरी की फिल् धूप का विशेष प्रदर्शन देखेंगे। यह फिल् कारगिल युद्ध में शहीद हुए सैनिकों के परिवारों का सघर्ष बयान करती है। इसी दिन अश्विनी चौधरी की राष्ट्रीय पुरस्कार से सम्मानित हरियाणवी फिल् लाडो भी दिखाई जायेगी। हरियाणा मूल के चर्चित फिल् अभिनेता यशपाल शर्मा की 4 फिल्में के दौरान दिखाई जाएंगी

अजित राय और सुषमा आर्य ने बताया कि फेस्टिवल के दौरान छात्र-छात्राओं के लिए एक फिल् एप्रीसिएशन कोर्स भी चलेगा। इसके संयोजक सुप्रिसिद्ध फिल्मकार के. बिक्रम सिंह होंगे। इसमें छात्रों का विश् की महान फिल्मों से परिचय कराया जायेगा और फिल् निर्माण से जुड़ी महत्वपूर्ण जानकारियों पर चर्चा होगी। इसका उद्घाटन 2 अक्टूबर की सुबह राष्ट्रीय फिल् अभिलेखागार, पुणे के निदेशक विजय जाधव करेंगे। भारतीय फिल् एवं टेलीविजन संस्थान, पुणे के पूर्व निदेशक त्रिपुरारी शरण मुख् अतिथि होंगे। इसी दिन चिल्ड्रन फिल् सोसायटी, इंडिया के सहयोग से बच्चों की फिल्मों का उत्सव शुरू होगा। इस दौरान ब्लू अम्ब्रेला फिल् की बाल कलाकार श्रेया शर्मा दो अक्टूबर को कालेज में उपस्थित रहेंगी। नाना पाटेकर अभिनीत फिल् अभय का प्रदर्शन भी समारोह में होगा।

तीसरें हरियाणा अंतर्राष्ट्रीय फिल् समारोह के दौरान कम से कम 9 फिल्मों का भव् हरियाणा प्रीमियर आयोजित किया जा रहा है। ये वे फिल्में हैं जो अभी व्यवसायिक रूप से रिलीज नहीं हुई हैं। ये फिल्में हैं कालबेला, (गौतम घोष), हाट वीकली बाजार (सीमा कपूर), जब दिन चले रात चले (त्रिपुरारी शरण) स्ट्रिंगबाउंड विद फेथ (संजय झा), टुन्नू की टीना (परेश कामदार), सबको इंतजार है (रंजीत बहादुर), हनन (मकरंद देशपांडे), बियोंड बॉर्डर (शर्मिला मैती) और हार्वेस् आफॅ ग्रीफ (अनवर जमाल)

1 टिप्पणी:

टिप्‍पणी की खट खट
सच्‍चाई की है आहट
डर कर मत दूर हट