बुधवार, 24 नवंबर 2010

एक सलाह, नेक सलाह

पंखे कूलर सो गये, ठण्‍डी हुई बयार
स्‍वैटर को सीने लगा, जर्सी को कर प्‍यार

9 टिप्‍पणियां:

  1. शिमला में ठण्ड पड़ी
    दिल्ली में डर गए
    बूढ़े बाबा जी
    ठंडी में तर गए
    स्वेटर भी पहना
    ओढ़ी रजाई
    फिर ठण्ड से
    अंग अकड़ गए
    इतनी ठण्ड को
    पवन जी कैसे सहें
    कपड़ों के भीतर
    अंगीठी के संग क्या रहें...

    उत्तर देंहटाएं
  2. पवन जी आपको जन्मदिन की हार्दिक शुभकामनायें।

    उत्तर देंहटाएं
  3. आदरणीय पवन *चंदन* जी

    उधर ठण्ड से आप श्री, इधर रहे हम कांप !
    बहुत बधाई जन्मदिन की स्वीकारें आप !!


    गर्म-गर्म शुभकामना , हरे आपका शीत !
    गीत प्रीत के गा' सदा, मन सबका लें जीत !!


    ~*~जन्मदिवस के शुभ अवसर पर~*~
    ~*~हार्दिक मंगलकामनाएं !~*~



    शुभकामनाओं सहित
    - राजेन्द्र स्वर्णकार

    उत्तर देंहटाएं
  4. आदरणीय पवन *चंदन* जी

    उधर ठण्ड से आप श्री, इधर रहे हम कांप !
    बहुत बधाई जन्मदिन की स्वीकारें आप !!


    गर्म-गर्म शुभकामना , हरे आपका शीत !
    गीत प्रीत के गा' सदा, मन सबका लें जीत !!


    ~*~जन्मदिवस के शुभ अवसर पर~*~
    ~*~हार्दिक मंगलकामनाएं !~*~



    शुभकामनाओं सहित
    - राजेन्द्र स्वर्णकार

    उत्तर देंहटाएं
  5. बहुत बढ़िया...
    जन्मदिन की ढेरों ढेर बधाई...

    उत्तर देंहटाएं

टिप्‍पणी की खट खट
सच्‍चाई की है आहट
डर कर मत दूर हट