बुधवार, 7 अक्तूबर 2009

एक नन्‍ही पहेली

मैं तो तेरी रक्षा करता तू रोंदे मेरे तन को
घर के अंदर आने न दे कैसे रोउं जीवन को


पिछली वानर वाली पहेली का उत्‍तर था ' पटाखा '

8 टिप्‍पणियां:

टिप्‍पणी की खट खट
सच्‍चाई की है आहट
डर कर मत दूर हट