मंगलवार, 13 अक्तूबर 2009

औटो चलो कपास

कहीं नहीं औलाद की मेरे बिन औकात
औरत के सम्मुख रहा चलो बताओ बात
मैं और तू के बीच में खोजो करो प्रयास
नहीं मिला तो दण्ड में औटो चलो कपास

पिछली पहेली का उत्‍तर है ' घड़ी '

4 टिप्‍पणियां:

  1. पता नही, लेकिन तुक्का भी कभी तीर बन जाता है..
    कही यह चक्की तो नही ( पुराने समय की जिस पर सुबह सुबह आटा पीसती थी ओरते)

    उत्तर देंहटाएं

टिप्‍पणी की खट खट
सच्‍चाई की है आहट
डर कर मत दूर हट